दिल्ली यूनिवर्सिटी (डीयू) के असिस्टेंट प्रफेसर ने मां दुर्गा पर आपत्तिजनक पोस्ट किया है। यह पोस्ट सोशल मीडिया में वायरल हो गया है, जिस पर काफी विवाद हो रहा है। दयाल सिंह कॉलेज में केदार कुमार मंडल बतौर असिस्टेंट प्रफेसर जुड़े हैं। उनके फेसबुक अकाउंट से 22 सितंबर की शाम आपत्तिजनक पोस्ट किया गया था। इस्तेमाल किए गए शब्द बेहद गंदे थे। फिलहाल यह पोस्ट प्रफेसर की वॉल से हटा ली गई है लेकिन इसका स्क्रीन शॉट सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है।

इस पर दयाल सिंह कॉलेज के स्टूडेंट्स और डीयू के टीचर्स ग्रुप नैशनल ड्रेमोक्रेटिक टीचर्स फ्रंट (एनडीटीएफ) ने पुलिस में शिकायत की है और एफआईआर की मांग की है। एबीवीपी ने भी टीचर के सस्पेंशन की मांग के साथ कॉलेज में प्रदर्शन किया। हमारे सहयोगी ने जब मामले पर प्रफेसर का पक्ष जानने के लिए उन्हें कई बार फोन किया लेकिन बात नहीं हो पाई।

 

एनडीटीएफ के महासचिव वीएसनेगी ने टाइम्स ऑफ इंडिया से बात करते हुए कहा, ‘यह लोकप्रियता हासिल करने के लिए किया गया निम्न स्तर का स्टंट है। इस वक्त जब पूरा देश नवरात्रि के त्योहार के जश्न में डूबा हुआ है ऐसे वक्त में लोगों की धार्मिक भावनाएं भड़काने के लिए इस तरह की पोस्ट की गई।’ एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि मामले की जांच चल रही है।
No automatic alt text available.
दयाल सिंह कैंपस से चलने वाले दोनों कॉलेजों मॉर्निंग और इवनिंग (इसी सेशन से मॉर्निंग में तब्दील हुआ कॉलेज) के स्टूडेंट्स शनिवार को प्रोटेस्ट में शामिल हुए। एबीवीपी ने तत्काल टीचर को सस्पेंड करने की मांग की। स्टूडेंट्स ने प्रिंसिपल से प्रफेसर को सस्पेंड करने और कॉलेज की ओर से एफआईआर दर्ज करवाए जाने की मांग की। कुछ लोग जेएनयू से पढ़े प्रफेसर को धमकियां भी दे रहे थे। कॉलेज इवनिंग में एबीवीपी यूनिट के प्रेजिडेंट वरुण ने कहा कि दोनों ही कॉलेज के स्टूडेंट्स और एबीवीपी सोमवार को इस मामले में बड़े स्तर पर प्रोटेस्ट करेंगे।

एबीवीपी के कालकाजी जोन के संगठन मंत्री मनीष ने कहा कि पोस्ट नवरात्र के मौके पर धार्मिक भावनाओं को भड़काने की कोशिश है। उन्होंने कहा कि जो प्रफेसर ऐसी सोच रखते हैं वह स्टूडेंट्स को क्या शिक्षा देंगे? डूसू सेक्रटरी महामेधा नागर की ओर से भी डीयू प्रॉक्टर से इस मामले में ऐक्शन की मांग की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *