दूसरे WORLD WAR के टाइम में हिटलर ने बेशकीमती चीज़ो का जखीरा जमा कर रखा था…

द्वतीय विश्‍व युद्ध के दौरान जर्मन तानाशाह एडोल्‍फ हिटलर एक ताकतवर शक्ति के रूप में उभर कर आया था।

1- जर्मन तनाशाह अडोल्फ हिटलर की ऑटोबायोग्राफ्री मेनकैंफ ज‍िसमें उसके हस्ताक्षर हैं अमेरिका में 20,000 डॉलर में बिकने का अनुमान है। हिटलर ने किताब के फ्रंट फ्लाईलीफ में बड़े शब्दों में लिखा है। उसने लिखा है युद्ध में नेक इंसान की ही जीत होती है। नीलामी करने वाली कंपनी एलेक्जेंडर हिस्टोरिकल ऑक्शंस के अनुसार हिटलर ने जिस दिन इसपर हस्ताक्षर किया उस दिन वह 14 सितंबर, 1930 को तय राष्ट्रीय चुनाव से पहले नेशनल सोशलिस्ट जर्मन वर्कर्स पार्टी और उसके उम्मीदवारों के प्रचार के लिए जर्मनी के कोलोन में भाषण दे रहा था। कंपनी ने कहा हिटलर के हस्ताक्षर वाली मेनकैंफ की प्रतियां हासिल करना मुश्किल है।  हस्ताक्षर के साथ टिप्पणी वाली प्रतियां और भी दुर्लभ हैं।

 

2- द्वितीय विश्वयुद्ध मे कुछ विनाशकरी संदेशों को फैलाने मे मदद करने वाला जर्मन तानाशाह एडोल्फ हिटलर का निजी फोन अमेरिका में एक नीलामी के दौरान 2,43,000 डॉलर में बिका। फोन की नीलामी अमेरिका के एलेक्जेंडर हिस्टोरिकल ऑक्शंस हाउस ने मेरीलैंड में की थी। इस फोन को जर्मन कंपनी सीमेंस ने बनाया था। यह 1945 से ही इंगलिश ग्रामीण इलाके में एक ब्रीफकेस में रखा गया था। नीलामी से पहले तक यह फोन इंग्लैंड के रानुल्फ रेनर के पास चमड़े के एक ब्रीफकेस में बंद था। रानुल्फ को यह फोन उनके पिता ब्रिगेडियर राल्फ रेनर से मिला था जो हिटलर के बंकर में दाखिल होने वाले संभवत पहले गैर-सोवियत सैनिक थे।

 

3- जर्मनी में एक नीलामी के दौरान हिटलर की पेंटिंग 1,61,000 डॉलर में बिकी। माना जाता है कि इस पेंटिंग को एडोल्‍फ हिटलर ने बनाया था। म्यूनिख हॉल की 1914 में बनी इस पेंटिंग को दो वृद्ध बहनों ने नीलामी के लिए रखा था। इनके दादा ने इन पेंटिंग्स को 1916 में खरीदा था।

 

4- जर्मनी के तानाशाह हिटलर की 16 बेशकीमती माणिक रत्न से बनाई गई स्वास्तिक से जड़ी दुर्लभ चांदी की अंगूठी अमेरिका में नीलाम हुई थी। नीलामी में इस अंगूठी के एक लाख पाउंड में बिकने की उम्मीद थी। हिटलर की इस अंगूठी के 16 माणिक रत्नों में से एक रत्न गायब है। इस अंगूठी के दो तरफ दो-दो खड़ी तलवारें बनाई गई हैं। इनके चारों तरफ ओक, बलूत की पत्तियां बनाई गई हैं। चांदी से बनी इस अंगूठी के बीच में एक बड़ा माणिक जड़ा हुआ है और फिर छोटे-छोटे आयताकार माणिक से स्वास्तिक का चिह्न बनाया गया है।

 

5- हिटलर की पत्‍नी इवा ब्राउन की हल्‍के नीले रंग की निकर एक डेढ लाख में नहीं बल्‍कि 2.5 लाख में बिकी है। निकर पर लेस और रिबन लगी हुई। इसके अलावा निकर पर इवा ब्राउन के नाम के पहले अक्षरों की कढाई हुई है। इतना ही नहीं इसमें सोने की अंगूठी में दुधिया पत्थर और इर्दगिर्द छह मानिक जड़े हैं। जिससे ये और ज्‍यादा खूबसूरत दिख रही थी। नीलामी में इवा ब्राउन की निकर देखने के लिए लोगों की भीड़ थी। सभी उसकी एक झलक पाना चाहते थे।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here